सपने में रोना कैसा होता है?


मेरे प्रिय पाठकों, ड्रीम्स हेराल्ड में आपका बहुत बहुत स्वागत है, आज का हमारे सपने का विषय है "सपने में रोना कैसा होता है"?

प्रिय पाठकों जैसा कि मैंने पहले भी बताया हुआ है कि हर सपना खास नहीं होता लेकिन कुछ सपने ऐसे होते हैं जो कि एक खास प्रकार का संकेत देते हैं और हमारे भविष्य में क्या होने वाला है उसकी सूचना हमें पहले से ही दे देते हैं बहुत से सपने मध्य रात्रि में देखे जाते हैं और कुछ सपने सुबह होने के ठीक पहले यानि की तड़के सुबह या कह लीजिये कि भोर में देखे जाते हैं।

मित्रों जो सपने भोर के समय में या उसके आसपास देखे जाते हैं उनका बहुत ही खास महत्व होता है और ऐसा माना जाता है की ऐसे सपने शीघ्र ही सार्थक होते हैं भले ही वह शुभ हों या अशुभ।  

कुछ सपने दिन के समय में भी देखे जाते हैं जब व्यक्ति थोड़े देर के आराम के लिए सोने चला जाता है पर ऐसे सपनों का कोई खास महत्व नहीं होता और ना ही ऐसे सपने सच होते हैं।

मित्रों सपनों के बारे में जानने की सबकी उत्सुकता होती है चाहे वह किसी भी वर्ग या श्रेणी का व्यक्ति ही क्यों ना हो चाहे वह आमिर हो या गरीब। यहाँ पर मैं कतई नहीं कहता की व्यक्ति को केवल सपने देख कर ही सब कुछ निर्धारित करना चाहिए लेकिन उसे हमेशा सतर्क रहना चाहिए क्यों की कभी न कभी सभी की छठी इंद्री जागृत होती है और वह उस व्यक्ति को आने वाले समय के बारे में सचेत करती हैं तो ऐसे समय में आपको चौकन्ना हो जाना ही बेहतर है भले ही आप कितने भी आमिर हो या गरीब हों या कितने भी मॉडर्न ही क्यों ना हों। 

मेरा ये पूरा विश्वास ही की एक सफल व्यक्ति किसी भी प्रकार के संकेतों को नज़रअंदाज़ नहीं करता भले ही वे संकेत उसे प्रत्यक्ष रूप से मिले या अप्रत्यक्ष रूप से।  

प्रिय मित्रों तो चलिए अब हम अपने मुख्य विषय पर आते हैं और बात करते हैं की यदि आप सपने में रोते हुए देखते हैं तो उसका विभिन्न परिस्थितियों में क्या अर्थ हो सकता है?

०१. सपने में स्वयं को रोते हुए देखना 
०२. सपने में दूसरे को रोते हुए देखना

सपनों का अर्थ विस्तार से : 

०१. सपने में स्वयं को रोते हुए देखना : सपने में स्वयं या खुद को रोते हुए देखना एक शुभ सपना माना जाता है और ऐसा माना जाता है कि ऐसा सपना हमारे मान सम्मान में बढ़ोतरी करता है जबकि इसके विपरीत सपने में हर्षोउल्लास या उत्सव मनाते हुए देखना एक बुरा सपना होता है, ऐसे सपनों का तर्क यह है कि जब हमारी अंदर कि चेतना रात को सोते समय अपने मस्तिष्क के साथ सामन्जस्य स्थापित करती है तो उस समय हमारे मस्तिष्क में दिन भर के क्रियाकलापों द्वारा जो भी ख़ुशी या तनाव महसूस किया जाता है वह दिमाग में एक जगह पर स्थापित हो जाती है और रात को सोते समय जब हमारा दिमाग खुद को रिप्रोसेसिंग करता है और सारे अवांछित चीज़ों को बहार निकालता है तो ऐसे  समय में जब कोई तनावग्रस्त चीज़ें हमारे दिमाग से बहार निकलती हैं तो हम रोने का सपना देखने लगते हैं और फिर हमारा दिमाग या मस्तिष्क दिर भर के तनाव से दूर हो जाता है और कुछ नया सोचने या करने के लिए फिर से तैयार हो जाता है। 

अतः इसका तर्क यही निकलता है कि जब हम कोई भी कार्य साफ़ या शांत दिमाग से करते हैं तो वह कार्य कुशलता के साथ होता है और हमें तरक्की देता है इसीलिए ऐसे तर्कों को सामान्यतः हम उल्टा या विपरीत करके देखते हैं कि जैसे यदि हम सपने में कोई उत्सव या त्यौहार मनाते हुए देखते हैं तो ऐसे में माना जाता है कि आने वाला समय कठिनाइयों से भरा रहेगा और हमें हमारे निजी जिंदगी में कई कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। 
 
०२. सपने में दूसरे को रोते हुए देखना : सपने में दूसरों को रोते हुए देखना एक प्रकार का अशुभ सपना होता है और ऐसा माना जाता है कि सपने में जिसको भी आपने रोते हुए देखा है या तो उसके साथ कोई बुरी घटना घटने वाली है या फिर उसके साथ होने वाले बुरे घटनाचक्र में आप भी शामिल हो सकते हो। 

यदि आपको सपने में रोते हुए व्यक्ति कि बारे में नहीं मालूम तो ऐसे में भी सपने का अर्थ बुरा ही होता है और ऐसा माना जाता है कि कोई करीबी आपको नुकसान पहुँचा सकता है या किसी भी दूसरे तरीके से तनाव दे सकता है। 

इसिलए जब भी आपको कोई बुरा सपना आये तो ऐसे में घबराना नहीं चाहिये बल्कि निचे दिए हुए कुछ व्यावहारिक उपाय हैं जो कि उस उक्त व्यक्ति को शीघ्र ही करने चाहिये। 


बुरे सपने आने पर क्या करें ? : यदि आप भी अपने सपने में कुछ बुरा देखते हैं तो सबसे पहले आप ये ठान लें की कोई भी निर्णय ऐसे समय में जल्दीबाज़ी में न लें, कोई भी काम किसी करीबी के पूछे बिना न करें, अपने में अहंकार को न पनपने दें, किसी भी काम काम को करने से पहले १०० बार जरूर सोचें, किसी भी काम को करते समय गुस्से से काम न लें, किसी से भी बात करते समय अपने में गुस्सा न पनपने दें, बड़ों के प्रति आदर भाव रखें, किसी गरीब को परेशान न करें, किसी का भी मुफ्त का सामान उपयोग में न लायें, सुबह जल्दी उठ कर सैर पर जायें, गरीब लोगों को दान दें, बड़ो का पैर छू कर आशीर्वाद लें इत्यादि। 

ऐसा करने से आप पायेंगे कि मुसीबत कब आ कर चली गयी आपको पता ही नहीं चलेगा। 



मेरे प्रिय पाठकों आपको मेरा सपनों का विश्लेषण कैसा लगा आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं और यदि आपका भी कोई भी ऐसा या इससे सम्बंधित कोई सपना है तो मेरे साथ जरूर शेयर करें ताकि मैं आपको आपके सपने के बारे में सही जानकारी दे सकूँ.

प्रिय पाठकों यदि सपनों की दुनिया में जाना आपको भी अच्छा लगता है तो आप मेरे इस ब्लॉग के साथ जुड़ सकते हैं जिसके लिए आपको मेरा ये ब्लॉग फॉलो करना होगा और यदि आपको ब्लॉग लिखना पसंद हो तो आप मुझे कमेंट करके रिक्वेस्ट कर सकते हैं फिर मैं आपको अपने ब्लॉग के साथ जोड़ लूंगा तब आप भी अपना अनुभव मेरे इस ब्लॉग के साथ और दूसरे लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं.


धन्यवाद...








Search tags : sapne me rote hue dekhna, sapne me khud ko rote hue dekhna, sapne me swayam ko rote hue dekhna, sapne me dusre ko rote hue dekhna, sapne me rona kaisa hota hai, sapne me rote hue dekhna kaisa hota hai, rona sapna, sapna rona, crying in dream, dreaming crying, dream of cry, dream of happiness, dream of celebration, gulf jobs, jobs in gulf, singapore jobs, jobs in singapore, daily jobs in, dailyjobsin, dreams herald, sapne me rotey hue dekhna, sapne me khud ko rotey hue dekhna, sapne me swayam ko rotey hue dekhna, sapne me dusre ko rotey hue dekhna, sapne me rotey hue dekhna kaisa hota hai, Crying in a dream, Seeing oneself crying in a dream, Seeing others crying in a dream, What is crying in a dream, What is it like to see Crying in a dream, Crying dream, Crying in a dream, Crying in a dream, Crying in a dream , dream of crying, dream of happiness, dream of celebration, gulf job, job in gulf, singapore job, job in singapore, daily job, dailyjobsin, dreams herald, खाड़ी की नौकरी, खाड़ी में नौकरी, सिंगापुर की नौकरी, सिंगापुर में नौकरी, दैनिक नौकरी, डेलीजॉबसिन, ड्रीम्स हेराल्ड

टिप्पणियाँ